How to drive a car in hindi (Complete Guide )

How to drive a car in hindi

कार चलाना कैसे सीखे

how to drive a car in hindi
how to drive a car in hindi

कार को चलाना हम सभी के लिए एक आश्चर्यजनक अनुभव होता हैं| कार ड्राइविंग के बारे में सोचकर ही हमारे शरीर में एक रोमांच का अनुभव हो जाता हैं| आप कार की ड्राईवर सीट पर बैठे हो,  कार का स्टीयरिंग(Steering Wheel) व्हील आपके हाथ में हो और आप शहर की भीड़ से दूर अपनी कार को खुद ड्राइव करके long drive पर ले जाए| कितना सुखद अनुभव हैं| लेकिन इस सुखद अनुभव को प्राप्त करने के लिए आपको कार को अच्छी तरह से चलाना सीखना होगा| कार को ड्राइविंग करना कोई बच्चो का खेल नहीं हैं क्योंकि कार को चलाना तो कोई भी सीख लेता हैं लेकिन सुरक्षित कार चलाना सीखने के लिए आपको बहुत अधिक अभ्यास की जरूरत होती हैं|

आपका कार चलाना सीखने का अभ्यास भी सही दिशा में होना चाहिए| अगर आपने गलत तरीके से कार चलने का अभ्यास कर लिया तो ये आपके लिए एक जोखिम भरी कार ड्राइविंग होगी| 

कार को एक कुशल ड्राईवर की तरह सीखने के लिए आपको बहुत अधिक प्रयास की जरूरत होती है| अपने इस लेख में, मैं कार को ड्राइव करने से सम्बंधित सभी टिप्स आपको बताऊंगा|  

कार को स्टार्ट करने से पहले कुछ ध्यान देने योग्य बातें

  1. आपको सबसे पहले कार के नीचे झुककर एक बार देख लेना चाहिए कि कोई  पालतू जानवर आपकी कार के नीचे तो नहीं सो रहा| अगर ऐसा है तो पहले उस पालतू जानवर को वहां से हटा दीजिये|
  2. कार के सभी शीशे ठीक तरह से साफ़ हैं या नहीं| अगर कोई शीशा गन्दा है तो उसे साफ़ कर लीजिये ताकि आपको कार ड्राइव करते समय सड़क पर सब कुछ साफ़-साफ़ दिखाई दे और कार ड्राइव करने में कोई भी बाधा न आये|
  3. कार के हॉर्न की भी एक बार जांच जरूर करे कि कार का हॉर्न ठीक से बज भी रहा हैं या नहीं|
  4. कार के क्लच और ब्रेक की भी ठीक से जांच कर लेनी चाहिए| 
  5. कार के चारो टायर की हवा भी चेक कर लेनी चाहिए| अगर कोई टायर पंक्चर की वजह से फ्लैट हो तो पहले टायर का पंक्चर ठीक कराये|
  6. कार के इंजन आयल की जांच भी समय-समय पर करते रहना चाहिए|
  7. कार के चारों शीशे और दरवाज़े ठीक से बंद कर ले|
  8. अपने मन में आने वाले किसी भी तरह के डर को निकल दीजिये कि मेरा एक्सीडेंट न हो जाए, कहीं मेरी गाडी किसी और गाडी से न टकरा जाए |
  9. ड्राईवर को अच्छी नींद लेनी चाहिए| कभी भी पूरी नींद न होने की स्थिति में कार को ड्राइव न करें| अन्यथा कार को चलाते  समय अगर नींद आ गयी तो बहुत बड़ी दुर्घटना हो सकती हैं|
  10. आपकी कार में टूल किट, जैक आदि  होने चाहिए ताकि टायर  पंक्चर होने की स्थिति में आप  स्टेपनी टायर से पंक्चर टायर को जैक की सहायता से बदल सके|
  11. कार के वाइपर, हेड लाइट आदि की भी जांच कर ले|

आइये अब हम कार को चलाना सीखते हैं| Car driving Lessons for beginners in hindi

किसी कुशल ड्राईवर को साथ रखे

कार को चलाना सीखने के लिए किसी भी जोखिम या दुर्घटना से बचने के लिए, अपने साथ किसी कुशल ड्राईवर या अपने किसी दोस्त को साथ रखें| जिसको कार ड्राइविंग का पूरी तरह से ज्ञान हो|

पार्क में या किसी खुले स्थान पर जाए

अपनी कार को कुशल ड्राईवर की मदद से किसी बड़े पार्क या खुले स्थान में ले जाए|

ड्राइविंग सीट एडजस्ट करना

कार को चलाने  के लिए आप सबसे पहले कार की ड्राइविंग सीट पर बैठ कर अपनी सीट को एडजस्ट करें| सीट को इस तरह से एडजस्ट करें कि आप बहुत ही आराम से अपने दोनों पैरों से क्लच, ब्रेक और स्पीड को कण्ट्रोल कर सके|

साइड मिरर एडजस्ट करना

कार के दोनों साइड के शीशो को एडजस्ट कर ले| ताकि आपको आपकी कार के पीछे दोनों तरफ से आने वाले वाहनों और अन्य सभी चीजों के बारे में पता चलता रहे| मोड़ पर टर्न करने के लिए आप इन्ही शीशो में देखकर ही अपना टर्न पूरा कर पाएंगे| अगर शीशे सही तरह से एडजस्ट नहीं हैं तो आप को पीछे से आने वाले वाहन आदि दिखाई नहीं देंगे और दुर्घटना की सम्भावना भी बन सकती हैं| इन दोनों साइड शीशो को इस तरह से एडजस्ट करें की बिना गर्दन घुमाये और अपनी सीट से हिले डुले बिना ही आप अपनी नज़र घुमा कर दोनों शीशो में आसानी से देख सके|

कार  को स्टार्ट कैसे करें

गाड़ी को स्टार्ट करने के लिए कार  में स्टीयरिंग के नीचे दिए गए चाबी के होल में कार की चाबी को लगाये और कार की चाबी को ऊपर की ओर twist कर दीजिये आपकी कार स्टार्ट हो जाएगी|  कार को स्टार्ट करने के लिए आपके बांये पैर से आपको पूरा क्लच दबाना चाहिए| क्योंकि अगर आपकी कार गियर में हैं तो भी कार जह्ताका लग कर आगे नहीं बढ़ेगी या अचानक से बंद नहीं होगी|

सीट बेल्ट लगाये

कार को चलने से पहले सबसे पहले सीट बेल्ट लगा ले| दुर्घटना की स्थिति में सीट बेल्ट बहुत अधिक उपयोगी हैं|

हल्का म्यूजिक चलाये

डर को दूर भागने के लिए अपनी कार में अपनी पसंद का कोई गाना प्ले कर ले| जिससे कार चलने में आपका कॉन्फिडेंस बढेगा| बहुत अधिक तेज कान फोड़ने वाले संगीत से बचे|

अपनी कार के सभी पेपर कार में रखे

कार को चलते समय कुछ जरूरी पेपर या डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होती हैं| जो निम्नलिखित हैं

  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • कार की R C
  • pollution पेपर
  • Insurance पेपर

क्लच को कण्ट्रोल करना सीखना

क्लच को कण्ट्रोल करने के लिए बहुत ही अधिक अभ्यास की जरूरत होती हैं| सबसे पहले कार  में बैठते ही आपका पैर क्लच पर जाना चाहिए अपने बाएं पैर से क्लच को पूरा दबा लीजिये| और गाड़ी को कार की चाबी से स्टार्ट कीजिये| क्लच को धीरे-धीरे छोड़ने का अभ्यास करें|

क्लच पर कण्ट्रोल करते समय आपको स्पीड कण्ट्रोल को दबाने की कोई भी जरूरत नहीं हैं| आपको बस अपने दोनों हाथ स्टीयरिंग पर रखने हैं कार को फर्स्ट गियर में ले जाना हैं और धीरे-धीरे क्लच छोड़ने का अभ्यास करना हैं| आपकी कार आगे की और बढ़ने लगेगी| जब आपकी कार धीरे-धीरे रेंगने सी लगे आपको अपने दायें पैर से ब्रेक कण्ट्रोल को दबाना हैं| इस प्रक्रिया को कम से कम सौ बार दोहराते रहे|

ब्रेक को कण्ट्रोल करना सीखना

जब आप क्लच को कण्ट्रोल करना सीखते हैं तो उसी के साथ-साथ ब्रेक कण्ट्रोल का भी प्रयोग करते हैं| ब्रेक को दबाने के लिए अपने दायें पैर से ब्रेक को धीरे-धीरे ऊपर से नीचे की ओर दबाये| 

क्लच कण्ट्रोल नीचे से ऊपर की ओर चलता हैं जबकि ब्रेक कण्ट्रोल ऊपर से नीचे की ओर चलता हैं |

स्टीयरिंग को एडजस्ट करना

मार्किट में मिलने वाली आधुनिक  कार में स्टीयरिंग एडजस्ट करने का फंक्शन भी होता हैं| आप अपनी कार के स्टीयरिंग को अपनी कम्फर्ट के हिसाब से एडजस्ट कर सकते हैं| ऐसा करने से आपको स्टीयरिंग को कण्ट्रोल करने में ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा|  

स्टीयरिंग को पकड़ने का सही तरीका

स्टीयरिंग को पकड़ने का सही तरीका pull-push तरीका हैं| स्टीयरिंग को घुमाने के लिए pull-push विधि को सबसे अधिक सुविधाजनक मन  जाता हैं| एक हाथ से आप स्टीयरिंग को pull करेंगे और दुसरे हाथ से आप स्टीयरिंग को pull करने की दिशा में push करेंगे|

pull-push विधि के द्वारा  स्टीयरिंग का इस्तेमाल करने से आप स्टीयरिंग के आस-पास दिए गए सभी उपकरणों जैसे हेड लाइट ऑन  या ऑफ करना , वाइपर को ऑन या  ऑफ  करना और डीपर का इस्तेमाल बहुत ही आसानी से कर सकते हैं| स्टीयरिंग को कभी भी अपनी उंगलियों और अंगूठे की पूरी ग्रिप बना कर न पकडे| स्टीयरिंग पकड़ते समय आपका दोनों हाथो के अंगूठे भी ऊपर ही होने चाहिए| स्टीयरिंग को कभी भी बहुत ही कसकर न पकडे| 

स्पीड को कण्ट्रोल करना सीखे

स्पीड को कण्ट्रोल सीखना भी बहुत अधिक आवश्यक हैं | आपको क्लच और स्पीड के मध्य तालमेल बनाना सीखना होगा| कार को पहले गियर में क्लच को धीरे-धीरे छोड़ते हुए स्पीड कण्ट्रोल को दांये पैर से बहुत ही हलके से दबाकर स्पीड को एक पॉइंट पर पैर को रोककर कण्ट्रोल करें| आपकी कार मूवमेंट में आ जाएगी| थोड़ी दूर तक ऐसे ही जाते रहिये और क्लच तथा ब्रेक को दबाकर कार को रोक दीजिये| इस अभ्यास को कई बार कीजिये| इस अभ्यास को करने के दौरान आपकी कार बंद नहीं होनी चाहिए |

how to drive a car
Car Gear Knob

कार को पहले गियर में चलाना

अब आपकी कार को पहले गियर में थोड़ी दूर तक चलाये| सामने 50 मीटर की दूरी पर देखते हुए कार को ड्राइव कीजिये| कार को neutral गियर में कर लीजिये| कार को पहले गियर में ले जाने के लिए बांये हाथ से राईट साइड में गियर नॉब को धकेल कर ऊपर की ओर धकेल दीजिये| आपकी कार पहले गियर में आ जाएगी| खड़ी कार को मूवमेंट में लाने के लिए हमेशा पहले गियर का इस्तेमाल करना चाहिए|

कार को दुसरे गियर में चलाना

जब आप अपनी कार को पहले गियर में आसानी से उठाने का सही से अभ्यास कर ले| अब कार की थोड़ी सी स्पीड बढाकर बांये हाथ से गियर नॉब को नीचे की ओर खीचकर कार को दुसरे गियर में ले जाए| कार की स्पीड दस से ऊपर होनी चाहिए आप speed meter में स्पीड को देख सकते हैं| दुसरे गियर में कार की स्पीड लिमिट दस से बीस होनी चाहिए| अब कार की स्पीड थोड़ी तेज हो चुकी हैं| अपना पूरा ध्यान सामने की तरफ रखे| ब्रेक कण्ट्रोल को हमेशा ध्यान में रखे जैसे ही स्पीड तेज लगे उसे ब्रेक कण्ट्रोल से कण्ट्रोल कीजिये| कार को रोक कर धीरे से पहले गियर में उठाये थोड़ी स्पीड तेज कर दुसरे गियर में ले जाए | ड्राइविंग करने का आनंद लीजिये |

कार को तीसरे और चौथे गियर में चलाना

कार को बीस से ऊपर और चालीस की स्पीड तक तीसरे और चोथे गियर में चलाना चाहिए| जब दुसरे गियर में गाड़ी चलने में आप कुशल हो जाए तो स्पीड कण्ट्रोल से स्पीड को तेज कर बीस के ऊपर ले जाकर अपने बांये हाथ से कार के गियर नॉब को थोडा सा बांये से दांये और ले जाए और गियर नॉब को ऊपर की ओर धकेल दे, कार तीसरे गियर में आ जाएगी गियर को उसी स्थिति में ही नीचे की ओर पूरा खीचने से कार चोथे गियर में आ गाएगी| चौथे गियर में कार की स्पीड तीस से ऊपर रखें| कार को तीसरे गियर या चौथे  गियर में ले जाने के लिए आप कभी भी गियर नॉब को बांये से पूरा दांये और न खिचिये| ऐसा करने से आपकी कार पांचवे गियर में आ जाएगी |

कार को पांचवे गियर में चलाना

कार को चालीस से ऊपर की स्पीड में पांचवे गियर में चलानी चाहिए| अपनी कार को पांचवे गियर में ले जाने के लिए आप कार की गियर नॉब को दायीं ओर खीच कर ऊपर की ओर कर दीजिये| आपकी कार पांचवे गियर में आ जाएगी| कार की स्पीड पर कण्ट्रोल रखे | कार को पांचवे गियर में जब चलाये तो पहले यह सुनिश्चित कर ले कि लगभग एक किलोमीटर की दूरी तक कोई भी वहां न हो| अगर अधिक ट्रैफिक हो तो कार को नीचे वाले गियर में चलाये| ब्रेक को अपने दिमाग में हमेशा रखे |

कार को रिवर्स गियर में चलाना

कार को पीछे रिवर्स में चलाना के अभ्यास सबसे अधिक करना चाहिए| क्योंकि अगर आप इस कौशल में निपुण नहीं हैं तो आपको अधिक ट्रैफिक या कार पार्क करते समय बहुत अधिक परेशानी हो सकती हैं| अधिक ट्रैफिक में जब कभी आपकी कार फंस जाए और आगे जाने का कोई भी रास्ता न हो तो कार को पीछे रिवर्स गियर की मदद से पीछे की तरफ ड्राइव करना होता हैं| रिवर्स गियर आपकी कार में पांचवे गियर के विपरीत दिशा में होता हैं| कार को पार्किंग करते समय भी आपको अपनी कार को रिवर्स गियर में चलानी पड़ेगी| रिवर्स गियर में कार को हमेशा धीरे-धीरे चलाये| दोनों साइड मिरर और बेक मिरर में देखते रहे| रास्ता साफ़ होने पर भी पीछे की ओर जाए| हॉर्न को बजाते रहे ताकि आस-पास के लोग सावधान रहें| आधुनिक कार में तो आज कल रियर कैमरा लगा होता हैं| आप आसानी से अपनी कार की स्क्रीन में देखकर कार को रिवर्स में ड्राइव कर सकते हैं|

कार को अच्छे से मोड़ने के लिए आठ अंक बनाना सीखे

आप पार्क में कार चलते समय आठ बनाये| आठ बनाने के लिए कार को दुसरे गियर में चलते हुए ऐसे मोड़िये कि आपकी कार के टायर से आठ की संख्या बन जाए| कार को अच्छे से मोड़ पर मोड़ने के लिए आपको अधिक से अधिक आठ बनाने का अभ्यास करना चाहिए|

कार को पार्क कैसे करें (How to park a car)

जब आप कार को अच्छी तरह से ड्राइव करना सीख जाते हैं तो आप स्वत: ही कार को पार्क करना सीख जायेंगे क्योंकि आपका आपकी कार के सभी कण्ट्रोल ब्रेक, क्लच और स्पीड पर पूरा कण्ट्रोल हो जायेगा|

पार्किंग के टाइप

Angle  Parking 

एंगल पार्किंग में आपकी कार तीरछी खड़ी होती हैं|

Perpendicular Parking

perpendicular पार्किंग में आपकी कार वर्टीकल खड़ी होती है|

Parallel Parking

पैरेलल पार्किंग में आपकी कार रेक्टेंगल खड़ी होती हैं|

दुसरे वाहनों से हमेशा एक उचित दूरी बनाये

अपनी कार को चलाते  समय आगे जाने वाले वाहनों से हमेशा एक कार की दूरी बनाये रखें|

कार को अपनी लेन में चलाये

सडको पर कार को चलाने के लिए भारी,  हलके और दुपहिया वाहनों के लिए अलग-अलग लेन बनी होती हैं| हमेशा कार को अपनी कार लेन में ही चलाये|

भीड़ में उतावले न बने

आप अभी नए-नए कार चलाना सीखे हैं| भीड़-भाड़ वाली जगहों में आप थोड़े से नर्वस हो सकते हैं| संयम बनाये रखे| भीड़ वाली जगहों में अपने वहां को आगे-आगे बढ़ने की कभी मत सोचे | सामने से आने वाले वाहनों को रास्ता दे|

कार के बांयी साइड को समय समय पर देखते रहे

दुपहिया वाहन चालको को कार चलाने  में सबसे बड़ी समस्या कार के साइज़ को लेकर आती हैं| दुपहिया वहां चालक जब कार को चलाना सीखते हैं| तो वे कार को भी किसी मोटरसाइकिल या स्कूटर की तरह से राइड करने की कोशिश करते हैं| कार को किसी दुपहिया वाहन की तरह चलाना जोखिम भरा हैं|  क्योंकि  कार की बांयी साइड की तरफ अगर आप ध्यान नहीं देते हैं तो कार की बांयी साइड किसी को लग सकतीं हैं| कार दुपहियों वाहनों से बड़ी होती हैं या यूँ समझ लीजिये कि आपको एक डब्बे में बैठ कर उसे सड़क पर एक स्थान से दुसरे स्थान पर ले जाना हैं| सड़क पर लोगो की, वाहनों की भीड़ बहुत हैं और आपको अपने इस कार के डिब्बे को किसी भी चीज़ से बिना छुए या एक्सीडेंट किये बिना उसकी डेस्टिनेशन पर पहुचाना हैं|

कार को चलते वक़्त बहुत से लोग सामने ही देखते रहते अपनी कार के साइज़ का उन्हें ध्यान  ही नहीं होता हैं| और बिना देखे अपनी साइड से तो कार को बचा लेते हैं लेकिन दूसरी ओर उनका ध्यान नहीं जाता हैं| इस स्थिति में आपकी कार बांयी ओर से किसी दुसरे वाहन या किसी अन्य खड़ी हुई ठेली, आदमी आदि से भीड़ जाती हैं| 

बारिश में कार कैसे चलाये(How to drive a car in rainy season)

तेज बारिश में विसिबिलिटी थोड़ी कम हो जाती हैं| अपनी कार के वाईपर को ऑन कर लीजिये| जिससे फ्रंट मिरर पर आने वाला बारिश का पानी हट जाए| अधिक बारिश  की स्थिति में आपकी कार के शीशो  फोग या धुंध जम जाती हैं और आपको ड्राइव करते समय बाहर का कुछ भी दिखाई नहीं देगा| आप हीटर को चलाकर शीशो पर से जमी धुंध को सेकंडो में साफ़ कर सकते हैं| बस दो मिनट के लिए हीटर ऑन कर दे | साड़ी जमी फोग हट जायेगी और विसिबिलिटी क्लियर हो जाएगी| 

रात में कार कैसे चलाये(How to drive a car in night)

रात में कार चलते समय हमेशा सावधान रहें| हमेशा हेड लाइट ऑन रखें| कार को धीरे-धीरे चलाये| अगर रोड पर स्ट्रीट लाइट्स लगी  हैं तो हेड लाइट को न जलाये| रात में वहां चलते समय सबसे अधिक परेशानी सामने से आने वाले वाहनों से होती हैं| सामने से आने वाले वाहनों की तेज हेड लाइट की रौशनी आपकी आँखों में पड़ती हैं| आपकी आँखें बंद होने लगती हैं और दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता हैं| आप जब भी रात में कार चलाये हमेशा अपना ध्यान सीधे दूसरे सामने से आने वाले वाहनों पर न रखकर अपनी कार के सामने रखे और हो सके तो थोड़ी सी अपनी नज़रे बांयी और घुमा ले जिससे आपकी आँखों में सीधे लाइट नहीं पड़ेगी|   

धुंध में कार कैसे चलाये(How to drive a car in fog)

धुंध में कार को चलाते समय आपको अपनी कार की फोग लाइट जलानी चाहिए| अगर कार में फोग लाइट नहीं हैं तो आप अपनी हेड लाइट पीली पन्नी लगा सकते हैं| 

हैण्ड ब्रेक का इस्तेमाल कैसे करें

कार में ड्राईवर सीट के पास गियर बॉक्स के नीचे एक और बहुत ही जरूर उपकरण हैण्ड ब्रेक लगा होता हैं| हैण्ड ब्रेक लगाने से आपकी कार जाम हो जाती हैं| बहुत तेज स्पीड में चलती कार को अचानक रोकने के लिए, रेड लाइट पर, ऊँची खड़ी सडको पर कार को रोकने के लिए हैण्ड ब्रेक का इस्तेमाल किया जाता हैं| पहाड़ो में ड्राइव करने के लिए आपको हैण्ड ब्रेक का इस्तेमाल करना आना चाहिए| 

पहाड़ो पर कैसे ड्राइव करें(How to drive a car in mountain)

अगर आप पहाड़ी स्थानों पर ड्राइव करना चाहते हो तो आप को अपनी कार बहुत ही सावधानी से चलानी पड़ेगी| पहाड़ो पर डीपर लाइट का इस्तेमाल कर आप आने वाले वाहनों को बताये कि उनके सामने से कोई वहां आ रहा हैं| पहाड़ो में अधिक ऊंचाई पर कार से बहार गहरी खाई में मत देखे| सिर्फ कार से थोड़ी दूरी पर अपना ध्यान केन्द्रित करें| हर एक मोड़ पर डीपर ऑन एंड ऑफ करें| गाडी को रोकने के लिए हैण्ड ब्रेक का इस्तेमाल करें अन्यथा आपकी गाडी नीचे की ओर फिसल सकती हैं 

दुसरे वाहनों को ओवरटेक कैसे करें

सड़क पर गाडी चलाने  के लिए या हाईवे पर गाडी चलने के लिए आपको कई बार बड़े और छोटे वाहनों को ओवरटेक करना होता हैं| किसी अन्य वाहन को ओवरटेक करने के लिए सबसे पहले उस वाहन से लगभग एक कार की दूरी पर से कार को थोडा सा राईट साइड में ले जाए| साइड मिरर में यह देख ले कि पीछे से कोई वाहन तो नहीं आ रहा हैं| अगर कोई वाहन आ रहा हैं तो पहले उस वहां को निकलने दो |  

अपनी कार को राईट साइड में ले जाकर यह देख ले कि कोई वाहन तो सामने से नहीं आ रहा हैं| जब रास्ता साफ़ हो तो गाडी का डीपर ऑन और ऑफ करें, हॉर्न भी बजाये, जिससे जिस वाहन को आप ओवरटेक कर रहे हैं उसके चालक को यह ज्ञात हो जाए की आप अपनी कार को उससे ओवरटेक करना चाहते हैं| उसके इशारे पर ही आप अपनी कार को आगे थोड़ी तेज़ी से बढ़ाये| ओवरटेक करने वाले वाहन को क्रॉस कर थोड़ी दूरी के बाद दोबारा लेफ्ट साइड में अपनी कार को ले जाए| 

कार की समय-समय पर सर्विस कराये

कार को लम्बे समय तक बिना किसी समस्या के चलाने के लिए आप समय-समय पर अपनी कार की सर्विस करवाते रहे|

ऊपर बताई गयी सभी टिप्स को प्रयोग कर आप एक महीने के अन्दर ही एक कुशल चालक बन जायेंगे|

रोज अभ्यास करें 

जैसा कि हम सभी जानते हैं|

Practice makes a man perfect. 

कार सीखने के लिए रोज अभ्यास करें| ऐसा कभी मत सोचे कि एक दिन तो आपने कार को दो घंटे चलाया लेकिन उसके बाद बीस दिन तक कार को हाथ भी नहीं लगाया| आप चाहे कार को दस मिनट चलाये लेकिन रोज चलाये| रोज कार चलाने के अभ्यास से आप एक कुशल ड्राईवर बन जायेंगे. 

हैप्पी ड्राइविंग  

 

 

If Like, Please share

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!